पुलिस द्वारा सोशल डिस्टेंसिंग बनाये रखने व लॉक डाउन का पालन करने अलाउंसमेन्ट कर आमजन को किया जा रहा जागरुक-*

 


*पुलिस द्वारा सोशल डिस्टेंसिंग बनाये रखने व लॉक डाउन का पालन करने अलाउंसमेन्ट कर आमजन को किया जा रहा जागरुक-


कोरोना संक्रमण को रोकने के लिए समस्त थाना क्षेत्रों में पुलिस द्वारा अलाउंसमेन्ट कर सुझाव व हिदायत देकर जागरूक किया जा रहा है कि आमजन अपने घरों में रहें, सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करें। साफ़ सफाई का विशेष ध्यान रखें। साबुन व हैंडवॉश से नियमित रूप से हाथ-मुंह धुलते रहें। परिवार के बच्चें व बुजुर्गों को घर से बिल्कुल भी नही निकलने दें, विशेष वे बुजुर्ग जो पहले से ही किसी गम्भीर बीमारियों से पीड़ित है उनका विशेष ध्यान रखें। किसी तरह के कोरोना के लक्षण नजर आते है तो तत्काल डॉक्टर को दिखाएं या टोल फ्री हेल्पलाइन नंबर पर सूचित करें। कोरोना से लड़ने में आप सभी की जनभागीदारी अतिमहत्वपूर्ण है। कोरोना की रोकथाम में लॉक डाउन व सोशल डिस्टेंसिंग का पालन कर पुलिस व प्रशासन का सहयोग करें।


*कोरोना के बढ़ते संक्रमण को रोकने हेतु सभी थाने नियमित रूप से किये जा रहे सेनेटाइज-*


कुछ पुलिसकर्मियों व परिवारजनों में कोरोना पॉजिटिव पाये जाने एवं शहर में संक्रमितों का आंकड़ा लगातार बढ़ने से वरिष्ठ अधिकारियों के दिशा निर्देशन में जिले के सभी थानों, रक्षित केंद्र, कंट्रोल रूम आदि कार्यालयों को नगर निगम के सहयोग से एवं पुलिस स्टॉफ द्वारा नियमित रूप से सेनेटाइज किया जा रहा है।


*वाहन चेकिंग व थानों में ड्यूटीरत कर्मचारियों द्वारा विशेष रूप से किया जा रहा "सोशल डिस्टेंसिंग" का पालन-*


 वरिष्ठ अधिकारियों द्वारा सभी अधिकारी/कर्मचारियों को सोशल डिस्टेंसिंग बनाये रखने एवं कोरोना से बचाव के सभी उपायों को अमल करने हेतु सख्त दिशा निर्देश दिए गए है, जिसका पालन करते हुए थानों व अन्य कार्यलयों में ड्यूटीरत कर्मचारियों व विभिन्न स्थानों पर चेकिंग में लगे पुलिस बल द्वारा भी सामाजिक दूरी का अनिवार्य रूप से पालन करवाया जा रहा है। 


*ज़िले की सीमाओँ व शहर के भीतर की जा रही वाहनों की संवेदनशीलता से सघन चेकिंग-*


 कोरोना वायरस की रोकथाम हेतु लॉक डाउन के नियमों का सख्ती से पालन करवाने के लिये जिले की सीमाओँ व शहर के भीतर बेरिगेटिंग/नाकाबंदी कर थाना स्टॉफ व यातायात पुलिस द्वारा सोशल डिस्टेंसिंग बनाये रखते हुए सघनता व संवेदनशीलता से वाहनों चैकिंग की जा रही हैं। चेकिंग क दौरान पुलिस द्वारा लोगो को घर में रहने की सख्त हिदायत दी जा रही है कि वे बेवजह घर से नही निकलें। पुलिस द्वारा बगैर किसी जरूरी काम से बाहर घूमने वाले लोगों के विरुद्ध धारा 188 ipc व अन्य धाराओं में लगातार कानूनी कार्रवाई की जा रही है। 


*"कंटेनमेंट" क्षेत्र एवं घनी आबादी में लॉक डाउन का सख्ती से पालन करवाने ली जा रही "ड्रोन" की मदद-*


जिले के 31 थानों में 100 से अधिक कंटेनमेंट क्षेत्र बनाये जा चुके है। इन क्षेत्रों को चारों ओर से बंद कर आवाजाही पर पूर्ण रूप से प्रतिबंध लगा दिया गया है। उक्त क्षेत्र में पुलिस नियमित रूप से पैदल पेट्रोलिंग कर रही है। मुख्य गलियों व स्थानों पर पुलिस PPE किट पहनकर कर लोगों पर निगरानी रख रही है।


इसके अलावा उक्त क्षेत्रों में लॉक डाउन व सोशल डिस्टेंसिंग का सख्ती से पालन करवाने एवं सामाजिक गतिविधियों पर नजर रखने के लिए *"ड्रोन"* कैमरों की मदद ली जा रही है ताकि कोरोना के संक्रमण को और अधिक फैलने से रोका जा सके। वर्तमान में करीब 30 थाना क्षेत्रों में 1 दर्जन से अधिक *"ड्रोन कैमरों"* को उपयोग में लिया जा रहा है। आवश्यकतानुसार ड्रोन की संख्या लगातार बढ़ाई जा रही है।


उक्त क्षेत्रों में कोरोना को फैलने से रोकने व जनहित हेतु डॉक्टरों की टीम द्वारा नियमित रूप से कोरोना संक्रमित व्यक्ति के घर के आसपास के लोगों के भी सेम्पल लिए जा रहे है एवं स्क्रीनिंग की जा रही है, ताकि अन्य लोगों को कोरोना संक्रमण से प्राथमिकता के साथ बचाया जा सकें।


पुलिस कर्मचारियों व उनके परजिनों में भी कोरोना संक्रमण फैलने के बाद प्राथमिकता के साथ सभी पुलिस थानों, पुलिस कंट्रोल रूम, रक्षित केंद्र आदि में नियमित रूप से डॉक्टर की टीम कोरोना के सेम्पल लिया जा रहा है। इसके अलावा पुलिसकर्मियों की सामान्य जांच पुलिस कंट्रोल में काउंसलर डॉ. दत्ता द्वारा की जा रही है।


Popular posts