डायल-100 सेवा द्वारा शिकायतकर्ता के घर पर ही दर्ज होगी FIR श्री नरोत्तम मिश्रा, मान. मंत्री गृह विभाग  मध्यप्रदेश के द्वारा मध्यप्रदेश पुलिस के पायलेट प्रोजेक्ट  “ FIR आपके द्वार ” का शुभारंभ किया गया


दिनाँक – 11 मई 2020
डायल-100 सेवा द्वारा शिकायतकर्ता के घर पर ही दर्ज होगी FIR
श्री नरोत्तम मिश्रा, मान. मंत्री गृह विभाग  मध्यप्रदेश के द्वारा मध्यप्रदेश पुलिस के पायलेट प्रोजेक्ट  “ FIR आपके द्वार ” का शुभारंभ किया गय
 आज दिनाँक 11 मई 2020 को श्री नरोत्तम मिश्रा , मान.मंत्री गृह विभाग मध्यप्रदेश शासन एवं पुलिस महानिदेशक , मध्यप्रदेश श्री विवेक जौहरी के द्वारा मध्यप्रदेश पुलिस के अभिनव प्रयोग “ FIR आपके द्वार “ पायलेट प्रोजेक्ट का शुभारंभ किया गया । इस अवसर पर अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक (अअवि) श्री कैलाश मकवाना, अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक (दूरसंचार) श्री एस.के.झा एवं अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक भोपाल जोन श्री उपेन्द्र जैन भी थे । नवीन पुलिस कंट्रोल रूम भवन के सभागार में आयोजित कार्यक्रम में योजना का शुभारंभ करते हुये माननीय मंत्री ने कहा कि मध्यप्रदेश पुलिस की डायल-100 सेवा  01 नवंबर 2015 को देश में पहली बार मध्यप्रदेश में प्रारम्भ की गई थी । डायल-100 सेवा जनअपेक्षाओं एवं जन आकांक्षाओं पर खरी उतरी है । इन पाँच वर्षों में डायल-100 सेवा द्वारा सड़क दुर्घटनाओं की लाखों सूचनाओं पर घटना स्थल पर पहुँचकर लोगों की मदद की है । इनमें से लगभग आधे से अधिक मामलों डायल-100 वाहन द्वारा दुर्घटना में घायल लोगों को समय पर अस्पताल पहुँचाकर उनकी जीवन रक्षा की है । इसके अतिरिक्त डायल-100 सेवा द्वारा वरिष्ठ नागरिकों को उनके परिजनों / पड़ोसियों द्वारा प्रताड़ित किए जाने पर डायल-100 सेवा द्वारा मदद की जाती है । प्रसूताओं / बीमार व्यक्तियों को साधन उपलब्ध नहीं होने पर उपचार हेतु अस्पताल छोड़ा जाता है । जन-जन में लोकप्रिय इस डायल-100 सेवा में अब लोगों के घर जाकर FIR दर्ज करने के पायलेट प्रोजेक्ट के जुड़ जाने से यह योजना और भी जनउपयोगी साबित होगी तथा इसकी लोकप्रियता में और भी वृद्धी होगी ।  
 डायल-100 की टीम द्वारा माननीय मंत्री के समक्ष लाइव डेमो भी दिया गया । भोपाल में एक स्कूटी चोरी की घटना की सूचना पर डायल-100 वाहन में तैनात पुलिस स्टाफ कॉलर के पास FIR दर्ज करने हेतु कुछ ही क्षणों में पहुँच गया ।  इस अवसर पर पुलिस महानिदेशक , मध्यप्रदेश श्री विवेक जौहरी ने कहा कि यह आदर्श व्यवस्था होगी कि डायल-100 वाहन में तैनात पुलिस स्टाफ द्वारा यदि छोटे अपराधों में FIR घटनास्थल पर ही ले ली जाये तो जनता को थाने तक आने के लिए परेशान नहीं होना पड़ेगा । इस प्रोजेक्ट के लिए डायल-100 वाहनों में प्रशिक्षित स्टाफ तैनात किए जा रहे हैं । अभी यह व्यवस्था 11 ज़ोनल मुख्यालय जिलों एवं दतिया जिले के एक शहरी एवं एक ग्रामीण थानों में (बालाघाट ज़ोन में सिर्फ शहरी थाना)  23 थानों में यह योजना प्रारम्भ की गई है ।


Popular posts
रंग पंचमी पर थाना अशोका गार्डन पुलिस की बडी कार्यवाही,
Image
गरीबों, मजदूरों, किसानों के खातों में 16 हजार 489 करोड़ ट्रांसफर किये गये सरकार ने गरीबों के लिए खोला खजाना – मुख्यमंत्री श्री चौहान
Image
छत्तीसगढ़ सरकार  प्रवासी मजदूरों को राहत देने मे सक्रिय . दी जा रही बड़ी राहत : ... कोरबा छत्तीसगढ़ से सिमरन कौर
Image
सीएम शिवराज सिंह का बयान, सभी निजी स्कूल सिर्फ ट्यूशन फीस ले सकेंगे, कोई भी अतिरिक्त शुल्क नहीं लिया जाएगा
Image
कोरोना संक्रमण की रोकथाम, बचाव व जागरूकता हेतु पुलिस टीम कंटेन्मेंट इलाकों ने मोटरसाइकिल से कर रही पेट्रोलिंग-*
Image